निकुंज लोटिया की जीवनी | Nikunj Lotia biography in Hindi | Beyounick

0
439
Nikunj Lotia biography in Hindi | Beyounick
Nikunj Lotia biography in Hindi | Beyounick

एक दौर हुआ करता था जब आपमें टैलेंट होने के बाद भी आपको वह लोकप्रियता काम और पहचान नहीं मिल पाती थी जिसके आप हकदार हुआ करते थे पर हाल ही के दिनों में चीजें काफी बदल चुकी है। इंटरनेट ने लोगों के टैलेंट को दुनिया के सामने पहुंचाने में अहम भूमिका निभाई है आज अगर आपमें टैलेंट है तो आप यूट्यूब जैसे प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करके समय के साथ सफलता तक का रास्ता बना सकते हैं। आज की हमारी कहानी भी एक ऐसे यूट्यूबर के बारे में है जिसने अपने टैलेंट का इस्तेमाल करके यूट्यूब पर अच्छे आर्टिस्ट के रूप में अपनी जगह तो बनाई ही थी साथ ही साथ लोगों के दिलों में घर भी कर लिया है। हम बात कर रहे हैं यूट्यूब पर ब्यूनिक चैनल चलाने वाले निकुंज लोटिया के बारे में इनके यूट्यूब चैनल पर इस वीडियो के बनाए जाने तक 3.4 मिलीयन सब्सक्राइबर्स हैं और यह आंकड़ा काफी तेजी से बढ़ रहा है। इनकी लगभग लगभग हर वीडियो आते ही ट्रेंडिंग पेज पर पहुंच जाती है। इनकी विडिओस की बात करी जाए तो इनकी वीडियो इनके चैनल के नाम की तरह ही काफी यूनीक होती हैं और इनकी विडिओस दूसरे यूट्यूबर की तुलना में काफी फनी और छोटी भी होती हैं और शायद इनकी यही बातें इनको दूसरे आर्टिस्ट से अलग बनाती हैं। उनकी कुछ वीडियो जैसे कि द ब्रोकोड बहुत फेमस है। आइए तो इस वीडियो में जानते हैं कि आखिर कैसे निकुंज लोटिया ब्यूनिक बने।

निकुंज लोटिया का जन्म 29 नवंबर 1989 को मुंबई महाराष्ट्र में हुआ था। वे गुजराती परिवार से बिलॉन्ग करते हैं। अगर इनके बचपन की बात करी जाए तो वह हमारी और आपकी तरह ही बीता है। यह बाकी बच्चों की तरह ही थे पर एक चीज इनमे अलग थी वह थी इनकी क्रिएटिविटी। यह अपने स्कूल के समय से काफी क्रिएटिव थे पर टॉपर होने की जगह यह बेक बेंचर्स हुआ करते थे जो अपने दोस्तों के साथ ज्यादातर समय पीछे बैठकर एक दूसरे के साथ मजाक करते थे। स्कूल खत्म होने के बाद निकुंज ने मुंबई के एक आर्किटेक्चर कॉलेज में एडमिशन ले लिया और वहीं से अपनी बैचलर ऑफ आर्किटेक्चर की पढ़ाई शुरू करी थी।

कॉलेजी वो वक्त था जब निकुंज लोटिया का पूरा जीवन बदलने वाला था। कॉलेज में आने के बाद भी उनके स्कूल की मस्ती मजाक करने की आदत गई नहीं और उन्होंने इसी शौक को पैशन बनाने का सोचा और अपने मोबाइल से अपनी शार्ट फनी वीडियोस रिकॉर्ड करने लगे और अपनी चैनल पर डालने लगे पर शुरुआत काफी फीकी सी रही क्योंकि उनको वो पापुलैरिटी
नहीं मिल पा रही थी जिसकी उम्मीद निकुंज लगाए बैठे थे। इसके बाद भी उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और वे लगातार वीडियोस डालते हैं और मेहनत करते हैं इसके बाद उन्होंने अपनी दोस्त से ट्राइपॉड ले लिया और फिर उसकी मदद से वीडियो रिकॉर्ड करने लगे अगर आप सोच रहे हैं कि उनके जीवन का स्टर्लिंग फेस था तो आप गलत हैं क्योंकि उनके जीवन का असल स्ट्रगल तो अब शुरू होने वाला था। अपने कॉलेज का खर्चा उठाने के लिए निकुंज ने बारटेंडिंग तक की है। इसके अलावा एक ऐसा वक्त था जब वह 1 वर्ष के लिए गोवा चले गए और वहां कई अलग-अलग तरह के काम किए पर जब वहां से वापस आए तो उनके पास ना तो पैसे थे और ना ही कोई कॉन्टेक्ट्स जिससे वह काम मांग सकें।

इस दौरान उनके घर वालों ने उनका खर्चा उठाया। दोस्तों मैं आपको बता दूं कि इस वक्त और उनकी फैमिली की फाइनेंसियल कंडीशन भी कुछ खास नहीं थी। पैसे से मजबूर निकुंज ने इसके बाद एक कॉल सेंटर में भी काम करा है। इन सब कामों के बावजूद उन्होंने यूट्यूब पर वीडियो बनाना कभी नहीं छोड़ा जो उनके लिए सबसे बड़ी बात थी क्योंकि वह जानते थे कि अगर उन्होंने समय की परीक्षा को पास करते हुए काम करना जारी रखा तो एक न एक दिन उन्हें उनके हक की सफलता जरूर मिलेगी। उनको यह पहचान मिली वर्ल्ड कप में जब उनकी मौका मौका स्कुफ की वीडियो वायरल हो गई इस वीडियो के हिट होने के बाद चैनल भी लाइमलाइट में आ गया और लंबे समय से जिस पल का निकुंज को इंतजार था वो अब आ चुका था। वह जानते थे कि अब इसके आगे और उनको ओर भी मेहनत करनी होगी यहां से कभी भी उन्होंने पीछे मुड़ कर नहीं देखा। वह आगे ही बढ़ते रहे उनकी सोच और दृढ़ निश्चय का ही नतीजा है कि आज उनके चैनल पर 170 से भी ज्यादा वीडियोस हैं और सभी वीडियोस लाखों लोगों द्वारा देखी जाती है।

अगर एक वक्त पर निकुंज अपने हालातों से समझौता कर लेते तो शायद कभी भी इतनी लोकप्रिय नहीं हो पाते इसीलिए अगर आपको भी कामयाबी हासिल करनी है तो मेहनत के साथ-साथ जुनून और हिम्मत होना बहुत जरूरी है।

अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो आप इस लेख को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे।
धन्यवाद !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here