कार्लोस स्लिम |Carlos slim mahan logo ki kahaniya in hindi| Hindi Kahaniya

वक्त से पहले किया कमाल

जिस उम्र में स्टूडेंट्स मैथ्स के सवालों में उलझे रहते हैं, उस उम्र में कार्लोस स्लिम ने पैसे की चाल समझने में दिमाग उलझा दिया था। 11 साल में उन्होंने पहली बार गवर्नमेंट के सेविंग बॉन्ड में इनवेस्ट किया। अमेरिकी खरबपति जीन पॉल गेट्टी के बारे में एक लेख पढ़कर उनमें बिजनेस के प्रति जोश और बढ़ गया। 15 साल का होते-होते उन्होंने देश के एक बड़े बैंक में छोटी हिस्सेदारी हासिल कर ली। इसके बाद सिविल इंजिनियरिंग में डिग्री लेकर स्टॉक ब्रोकिंग कंपनी खोलने के लिए उन्होंने 14-14 घंटे काम करना शुरू किया। 26 साल की उम्र में वह इनवेस्टमेंट के जरिए 4 करोड़ के मालिक बन चुके थे।

पैसे की चाल को भांपा

कार्लोस ने बिजनेस की बारीकियां पिता जूलियन स्लिम से सीखीं। उन्होंने 1982 में मंदी के दौरान मार्केट में काफी पैसा लगाया। मंदी के आठ साल के दौरान उन्होंने देश की सबसे बड़ी टेलिकम्यूनिकेशन कंपनी टेलिमैक्स को खरीद लिया। उनके मोबाइल नेटवर्क अमेरिका मोविल ने लैटिन अमेरिका के मोबाइल मार्केट पर कब्जा कर लिया। आज 11 देशों में 1 करोड़ 53 लाख से ज्यादा लोग उनके नेटवर्क को यूज कर रहे हैं। कार्लोस की मौजूदगी टेलिकम्यूनिकेशन के अलावा इंटरनेट सर्विस, रिटेल, बैंकिंग, इश्योरेंस, टेक्नॉलजी, ऑटो पार्ट्स मैन्युफैक्चरिंग जैसे सेक्टरों में है। आज वह 220 से ज्यादा कंपनियों के मालिक हैं, फिर भी कहते हैं, ‘दुनिया भर में तकनीक लोगों की जिंदगी बदल रही है। हमें समझना होगा कि हम कहां फिट हो सकते हैं।’

बड़प्पन से बने बड़े

वह दुनिया के सबसे रईस शख्स हैं, लेकिन काम सेवक की तरह बनकर करना चाहते हैं। हर सोमवार घर पर रुककर परिवार के लिए मैक्सिकन फूड पकाते हैं। वह आज भी अपने तीन दशक पुराने छह बेडरूम वाले घर में ही रहते हैं। मैक्सिको में अपहरण के खतरे के बावजूद वह अपनी कार खुद चलाकर ऑफिस जाते हैं। उन्होंने अपने लिए कोई अलग कॉर्पोरेट ऑफिस तक नहीं बनाया है। उन्हें कंप्यूटर पर काम करना नहीं आता। वह खुद कहते हैं, ‘मेरे बेटे ने मुझे क्रिसमस पर लैपटॉप गिफ्ट किया था पर आज तक मैंने उसका इस्तेमाल नहीं किया है। मैं पेपर पर काम करने वाला इंसान हूं।’

चैरिटी में नहीं भरोसा

कार्लोस ज्यादा चैरिटी नहीं करते। वह कहते हैं, ‘पैसा देने से प्रॉब्लम सॉल्व नहीं होती। परेशानी दूर करने के लिए काम करना पड़ता है। हम बिजनेस को बढ़ा रहे हैं ताकि ज्यादा से ज्यादा नौकरियां पैदा हों। गरीबी दूर करने के लिए कमाई का जरिया देना जरूरी है।’ चैरिटी पर्सन न होने पर वह कहते हैं, ‘जब आप यह सोचकर जीते हैं कि दूसरे आप के बारे में क्या सोचते तो आप मर जाते हैं।’

कुछ खास बातें

मैक्सिको में फुटबॉल का क्रेज सिर चढ़कर बोलता है, पर कार्लोस बेसबॉल के दीवाने हैं। उन्होंने सोम्या डोमिट से 1967 में शादी की थी, उनसे उनके 6 बच्चे हैं। सोम्या का निधन 1999 में हो गया था। कार्लोस किसी विकासशील देश से दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति बनने वाले पहले इंसान हैं।

Leave a Comment